November 28, 2020

इन तीन टीमों को चाहिए सिर्फ जीत, जीत और जीत

Battle for playoffs

दुबई। सनराइजर्स हैदराबाद, किंग्स इलेवन पंजाब और कोलकाता नाइटराइडर्स तीन ऐसी टीमें हैं जिनको अब आईपीएल में प्लेऑफ में अपनी जगह पक्की करने के लिये अपने बाकी बचे मैचों में हर हाल में जीत दर्ज करनी होगी।

ये तीनों टीमें आईपीएल के डबल हेडर में शनिवार को मैदान पर नजर आएंगी। इन तीनों में से एक टीम की हार और एक की जीत सुनिश्चित है। इसके बाद प्लेऑफ की तस्वीर भी साफ होने लगेगी।

दिन का पहला मैच दोपहर बाद 3:30 बजे से दिल्ली कैपिटल्स और कोलकाता नाइटराइडर्स के बीच खेला जाएगा। दिल्ली की टीम पिछले मैच में शिखर धवन के शतक के बावजूद हार गयी थी।

टी20 मैच में किसी एक बल्लेबाज का आखिर तक टिके रहना महत्वपूर्ण होता है लेकिन केवल उसी बल्लेबाज के सहारे जीत हासिल नहीं की जा सकती है। दिल्ली की पिछली हार में यही नजारा देखने को मिला।

किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ इस मैच में धवन ने नाबाद 106 रन बनाये लेकिन टीम पांच विकेट पर 164 रन ही बना पायी। पंजाब ने 19 ओवर में यह लक्ष्य हासिल कर दिया। धवन का शतक बेकार चला गया। दिल्ली ने इस हार से जरूर सबक लिये होंगे।

सिर्फ एक बल्लेबाज या एक विभाग (गेंदबाजी) मजबूत होने पर जीत हासिल नहीं की जा सकती है। उसके अन्य बल्लेबाज जैसे पृथ्वी शॉ, कप्तान श्रेयस अय्यर, ऋषभ पंत और मार्कस स्टोइनिस को भी अपनी जिम्मेदारी समझनी होगी।

बल्लेबाजी कोलकाता के लिये भी चिंता का विषय है क्योंकि रायल चैलेंजर्स बेंगलोर के खिलाफ पिछले मैच में टीम केवल 84 रन ही बना पायी थी। उसका कोई भी बल्लेबाज निरंतर अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पा रहा है। कप्तान बदला लेकिन टीम का प्रदर्शन ज्यों ता त्यो बना हुआ है।

दिल्ली के तो 10 मैचों में 14 अंक हैं और एक जीत से उसकी प्लेऑफ में जगह लगभग सुनिश्चित हो जाएगी लेकिन कोलकाता के 10 मैचों में 10 अंक हैं और उसके लिये जीत जरूरी है।

दिन का दूसरा मैच 7:30 बजे किंग्स इलेवन पंजाब और सनराइजर्स हैदराबाद के बीच खेला जाएगा। इन दोनों टीमों की स्थिति एक जैसी है। दोनों के 10 मैचों में समान आठ अंक हैं। हैदराबाद की टीम बेहतर रन गति के आधार पर पांचवें स्थान पर है।

पंजाब लगातार तीन मैचों में जीत दर्ज करके इस मैच में उतरेगा। वह निश्चित तौर पर अपना विजय अभियान जारी रखना चाहेगा लेकिन हैदराबाद ने भी पिछले मैच में राजस्थान रायल्स पर आठ विकेट से धमाकेदार जीत दर्ज की थी।

उसकी इस जीत की खासियत यह थी कि इसमें डेविड वार्नर या जॉनी बेयरस्टो का कोई खास योगदान नहीं था। मनीष पांडे ने नाबाद 83 रन और विजय शंकर ने नाबाद 52 रन बनाये। इन दोनों ने 140 रन की साझेदारी की और टीम को जीत दिलायी।

जैसन होल्डर के आने से हैदराबाद की बल्लेबाजी और गेंदबाजी दोनों को मजबूती मिली है। पंजाब की तरफ से जेम्स नीशाम को यह भूमिका निभानी होगी। वैसे पंजाब की बल्लेबाजी में कप्तान केएल राहुल, मयंक अग्रवाल, क्रिस गेल और निकोलस पूरन की फार्म देखते हुए किसी तरह की कमजोरी नजर नहीं आती है। गेंदबाजी में अब भी उसकी टीम मोहम्मद शमी पर निर्भर है।

हैदराबाद के गेंदबाजी विभाग में होल्डर के आगमन से अनुभव जुड़ा है जिसकी भुवनेश्वर कुमार के बाहर होने के बाद से ही कमी महसूस की जा रही थी। राशिद खान हमेशा की तरह अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। विजय शंकर ने पिछले मैच में गेंदबाजी में भी कमाल दिखाया लेकिन अन्य गेंदबाजों को भी इनके नक्शेकदम पर चलने की जरूरत है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *