November 27, 2020

चेन्नई की 10 विकेट से पहली हार, पहली बार प्लेऑफ से बाहर

1 min read
Chennai Super Kings out of playoffs

महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी वाली चेन्नई सुपरकिंग्स को अपने शानदार इतिहास में पहली बार आईपीएल में 10 विकेट से हार का सामना करना पड़ा और यह टीम पहली बार प्लेऑफ से बाहर हो गयी है। तीन बार की विजेता और पांच बार की उपविजेता चेन्नई आईपीएल में जब भी खेली, प्लेऑफ में पहुंची लेकिन यह पहला मौका है जब धोनी की दिग्गज चेन्नई प्लेऑफ में नहीं दिखाई देगी।

चेन्नई को शुक्रवार को मुंबई इंडियंस के हाथों 10 विकेट से हार का सामना करना पड़ा और उसका आईपीएल-13 में सफर समाप्त हो गया है। हालांकि चेन्नई के अभी तीन मैच बाकी हैं और अब भी अगर-मगर की स्थिति लगाई जा रही है कि यदि चेन्नई तीनों मैच बड़े अंतर से जीत जाए और कुल पांच टीमें 12 अंकों पर आकर ठहर जाएं तो चेन्नई टीम के लिए उम्मीद बन सकती है लेकिन इस लचर प्रदर्शन के बाद चेन्नई से उम्मीद नहीं की जा सकती कि वह कोई बड़ा चमत्कार कर जायेगी। इतना ही हो सकता है कि चेन्नई दूसरी टीमों का समीकरण बिगाड़ दे।

चेन्नई ने चैंपियन मुंबई को उद्घाटन मैच में हराकर टूर्नामेंट में शानदार शुरुआत की थी लेकिन उसके बाद उसके प्रदर्शन में लगातार गिरावट आती चली गयी और इस मैच में तो चेन्नई ने गिरावट की पराकाष्ठा दिखा दी। चेन्नई के चार विकेट तो मात्र तीन रन तक तीसरे ओवर में गिर गए। चेन्नई का पांचवां विकेट 21 के स्कोर पर गिरा। चेन्नई के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ जब उसने पॉवरप्ले में पांच विकेट गंवाए।

कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की खराब फॉर्म जारी रही। उन्हें तो मैदान में दूसरे ओवर में ही उतरना पड़ गया। धोनी ने ने 16 गेंदों पर दो चौकों और एक छक्के की मदद से 16 रन बनाये। चेन्नई के सात विकेट 43 रन तक गिर चुके थे और ऐसा लग रहा था कि चेन्नई के लिए 50 पार करना भी मुश्किल होगा लेकिन सैम करेन ने 47 गेंदों पर चार चौकों और दो छक्कों की मदद से 52 रन बनाकर टीम को 114 तक पहुंचाया।

114 रन का स्कोर ऐसा नहीं था कि मुंबई के सामने कोई परेशानी खड़ी हो पाती। मुंबई ने अपने ओपनरों ईशान किशन (नाबाद 68) और क्विंटन डी कॉक (नाबाद 46) की शानदार पारियों से 12.2 ओवर में बिना कोई विकेट गंवाए 116 रन बनाकर एकतरफा जीत हासिल की।

मुंबई की 10 मैचों में यह सातवीं जीत है और उसके 14 अंक हो गए हैं। मुंबई की टीम तालिका में शीर्ष स्थान पर पहुंच गयी है। मुंबई अब प्लेऑफ से एक जीत दूर रह गयी है। किशन ने 37 गेंदों पर नाबाद 68 रन में छह चौके और पांच छक्के लगाए जबकि डी कॉक ने 37 गेंदों पर नाबाद 46 रन में पांच चौके और दो छक्के लगाए।

चेन्नई ने इस मैच में टीम में तीन परिवर्तन किये और केदार जाधव, शेन वाटसन और पीयूष चावला की जगह एन जगदीशन, रुतुराज गायकवाड और इमरान ताहिर को शामिल किया लेकिन टीम को इन परिवर्तनों का कोई फायदा नहीं हुआ और चेन्नई को आईपीएल इतिहास में पहली बार 10 विकेट से हार का सामना करना पड़ा। गायकवाड और जगदीशन तो खाता खोले बिना आउट हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *