January 25, 2021

स्मिथ, गिल और जडेजा के नाम पर रहा दूसरा दिन

1 min read
The second day named after Steve Smith, Subhuman Gill and Ravindra Jadeja

सिडनी, आठ जनवरी। स्टीवन स्मिथ ने पहले दो टेस्ट मैचों में केवल 10रन बना पाये थे लेकिन सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर उन्होंने 131 रन की धांसू पारी खेली जबकि भारत की तरफ से रविंद्रजडेजा ने उम्दा गेंदबाजी और शुभमन गिल ने प्रभावशाली बल्लेबाजी की।

यह भारत और आस्ट्रेलिया के बीच तीसरे टेस्ट क्रिकेट मैच के दूसरे दिन का सार है जिसमें दोनों टीमों के बीच मुकाबला अभी बराबरी का लग रहा है। आस्ट्रेलिया ने स्मिथ के शतक तथा मार्नस लाबुशेन के 91 रन की मदद से 338 रन बनाये तो भारत दो विकेट पर 96 रन बना चुका है और अभी अपने प्रतिद्वंद्वी से 242 रन पीछे है।

जिस तरह से स्मिथ खेल रहे थे और सिडनी की पिच से बल्लेबाजों को मदद मिल रही थी उसे देखते हुए आस्ट्रेलिया को 400 रन के पार पहुंचना चाहिए था लेकिन तारीफ करनी होगी भारतीय गेंदबाजों की जिन्होंने लाबुशेन को आउट करने के बाद कोई बड़ी साझेदारी नहीं बनने दी।

जडेजा ने 62 रन देकर चार विकेट लिये। इनमें लाबुशेन का कीमती विकेट भी शामिल है। इसके अलावा उन्होंने अपनी चुस्त क्षेत्ररक्षण से स्मिथ को रन आउट भी किया। जसप्रीत बुमराह ने 66 रन देकर दो विकेट हासिल किये। कल विल पुकोवस्की (62) के रूप में अपना पहला टेस्ट विकेट लेने वाले नवदीप सैनी ने आज मिशेल स्टार्क (24) को भी आउट किया।

भारतीय पारी शुरू हुई तो सभी की निगाह रोहित शर्मा पर टिकी थी जिन्होंने चोट से उबरने के बाद इस मैच में वापसी की। उन्होंने नाथन लॉयन पर छक्का भी लगाया लेकिन लंबी पारी नहीं खेल पाये। गिल ने जरूर फिर से प्रभावित किया हालांकि वह करियर का पहला अर्धशतक पूरा करने के बाद अपनी पारी लंबी नहीं खींच पाये। रोहित ने 26 और गिल ने 50 रन बनाये तथा पहले विकेट के लिये 70 रन की साझेदारी की।

भारत के लिये तीसरे दिन के आखिर में विकेट बचाना महत्वपूर्ण था। चेतेश्वर पुजारा और कप्तान अजिंक्य रहाणे ने रक्षात्मक बल्लेबाज की भूमिका बखूबी निभायी। पुजारा 53 गेंदों का सामना करके नौ रन पर खेल रहे हैं जबकि रहाणे ने 40 गेंदों पर पांच रन बनाये हैं। तीसरे दिन इन दोनों की भागीदारी महत्वपूर्ण साबित होगी।

भारतीय बल्लेबाजों को पहले सत्र में अच्छा खेल दिखाना होगा क्योंकि पिच बल्लेबाजी के माकूल लग रही है। अगर पुजारा और रहाणे टिककर खेलते हैं तो आस्ट्रेलियाई गेंदबाजों को विकेट हासिल करने के लिये मेहनत करनी होगी।

इसलिए अब जबकि चार मैचों की सीरीज 1-1 से बराबरी पर है तब कल सुबह का पहला सत्र सीरीज के लिहाज से भी महत्वपूर्ण साबित होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.