November 27, 2020

आईपीएल रोमांचक मोड़ पर, राजस्थान, कोलकाता और पंजाब तीनों को जीत की दरकार

1 min read
KXIP RR KKR win for playoffs

दुबई। आईपीएल में ऐसा बहुत कम देखने को मिलता है जबकि आखिरी मैच पर प्लेआफ की तस्वीर टिकी हो और 14 अंक लेने वाली टीम नाकआउट में पहुंची हो। लेकिन यूएई में चल रहे इस टी20 लीग में इस बार ऐसा देखने को मिल रहा है।

केवल दो टीमों की स्थिति स्पष्ट हुई है। चार बार के चैंपियन मुंबई इंडियन्स ने अपना शीर्ष स्थान लगभग पक्का कर दिया है जबकि तीन बार का विजेता चेन्नई सुपर किंग्स बाहर हो चुका है। बीच की बाकी छह टीमों में से रविवार को होने वाले डबल हेडर में तीन टीमें अधिकतम 14 अंक हासिल करके अपनी उम्मीदें बरकरार रखने की कोशिश करेंगी।


प्रतिष्ठा की खातिर मैदान पर उतरेगा चेन्नई


रविवार को पहला मैच दोपहर बाद साढ़े तीन बजे से चेन्नई सुपर किंग्स और किंग्स इलेवन पंजाब के बीच अबुधाबी में खेला जाएगा। महेंद्र सिंह धोनी की टीम चेन्नई जीत से विदाई लेने के लिये बेताब होगी। उसे अभी 13 मैचों में पांच जीत से 10 अंक हैं। चेन्नई ने प्लेआफ की दौड़ से बाहर होने के बाद अपने पिछले दोनों मैच जीते हैं। उसने रायल चैलेंजर्स बेंगलोर (आरसीबी) और कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) को हराकर इन दोनों टीमों के समीकरण बिगाड़े हैं। अब उसकी निगाह पंजाब की उम्मीदों पर पानी फेरने पर टिकी होगी।


चेन्नई के पास गंवाने के लिये कुछ नहीं हैं लेकिन पंजाब की उम्मीदें अगर मगर के जरिये आगे बढ़ने पर टिकी हैं। पंजाब के 13 मैचों में 12 अंक हैं और वह अधिकतम 14 अंक हासिल करके बेहतर रन रेट के आधार पर नाकआउट में जगह बना सकता है। पंजाब का शुरुआती चरण का सफर बेहद खराब रहा लेकिन उसने इसके बाद लगातार पांच मैच जीते। के एल राहुल की अगुवाई वाली टीम को हालांकि पिछले मैच में राजस्थान रायल्स ने हरा दिया था। इससे स्थिति रोचक बन गयी है। मतलब साफ है पंजाब का न सिर्फ चेन्नई को हराना होगा बल्कि अच्छे अंतर से जीत दर्ज करके अपना रन रेट भी बेहतर करना होगा।


राजस्थान बनाम कोलकाता – करो या मरो

रविवार को दूसरा मैच शाम साढ़े सात बजे से राजस्थान रायल्स और कोलकाता नाइट राइडर्स के बीच खेला जाएगा। इन दोनों टीमों के लिये यह मैच करो या मरो जैसा है। इस मैच में जो भी टीम जीत दर्ज करेगी उसकी नाकआउट में पहुंचने की उम्मीद बनी रहेगी जबकि हारने वाली टीम का सफर वहीं पर थम जाएगा।

राजस्थान और कोलकाता दोनों ने अब तक 13 मैच खेल लिये हैं और उनके समान 12-12 अंक हैं। राजस्थान की टीम बेहतर रन रेट के कारण पांचवें स्थान पर है जबकि कोलकाता छठे स्थान पर है। ये दोनों टीमें फिलहाल किसी अगर मगर पर नहीं बल्कि जीत हासिल करने पर ध्यान देंगी। नेट रन रेट तो महत्वपूर्ण है ही इसलिए उनका प्रयास बड़े अंतर से जीत दर्ज करना होगा।


राजस्थान की टीम पिछले मैच में पंजाब का विजय अभियान थामकर उत्साह से लबरेज है। उसका शीर्ष क्रम फिर से चलने लग गया है। दूसरी कोलकाता ने अपने पिछले दोनों मैच पंजाब और चेन्नई के हाथों गंवाये हैं। उसके मेंटोर डेविड हसी ने सही कहा कि टीम अभी जिस स्थिति में है उसके लिये वह खुद जिम्मेदार है। कोलकाता के बल्लेबाज और गेंदबाज निरंतर एक जैसा प्रदर्शन करने में असफल रहे हैं।


इन दोनों टीमों के बीच पिछला मैच कोलकाता ने जीता था लेकिन अब परिस्थितियां बदल गयी हैं और राजस्थान बदला चुकता करने के लिये तैयार दिखता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *