November 27, 2020

13 वें साल में जाकर दिल्ली फाइनल में

1 min read
IPL 2020 Delhi Capitals enter in finals after 13 years

दिल्ली कैपिटल्स को आईपीएल के फाइनल में पहुंचने के लिए दो-चार नहीं बल्कि 13 साल का लम्बा इंतजार करना पड़ा। दिल्ली ने आईपीएल के 13वें सत्र में जाकर पहली बार फाइनल खेलने का अपना सपना पूरा कर लिया। हालांकि दिल्ली को पहली बार खिताब जीतने के लिए 10 नवम्बर को चार बार के चैंपियन मुंबई इंडियंस की चुनौती का सामना करना पड़ेगा।

दिल्ली ने फाइनल में पहुंचने के लिए काफी उतार चढ़ाव दिखाया लेकिन दूसरे क्वालीफायर में जाकर दिल्ली ने लय पकड़ी और सनराइजर्स हैदराबाद को 17 रन से हराकर पहली बार फाइनल में जगह बना ली। दिल्ली ने 14 अंक सुनिश्चित करने के बाद लगातार चार मैच गंवाए लेकिन अपने आखिरी मैच में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु को हराकर प्लेऑफ में जगह बनायी।

पहले क्वालीफायर में दिल्ली को मुंबई ने आसानी से पीट दिया। दूसरे क्वालीफायर में दिल्ली का मुकाबला एलिमिनेटर की विजेता टीम हैदराबाद से हुआ। हैदराबाद को दिल्ली के खिलाफ पिछले रिकॉर्ड के कारण जीत का दावेदार माना जा रहा था लेकिन दिल्ली के खिलाड़ियों ने जांबाज प्रदर्शन कर हैदराबाद से हिसाब-किताब चुकता कर लिया। इस प्रदर्शन के बाद दिल्ली का अब फाइनल के लिए मनोबल मजबूत रहेगा।

दिल्ली की हैदराबाद पर जीत में एक नहीं, तीन-तीन हीरो रहे। सलामी बल्लेबाज शिखर धवन ने 78 रन की शानदार अर्धशतकीय पारी खेली , मार्कस स्टॉयनिस (38 रन और 26 रन पर तीन विकेट) ने गजब का हरफनमौला प्रदर्शन किया जबकि तेज गेंदबाज कैगिसो रबादा (29 रन पर चार विकेट) ने घातक गेंदबाजी की।

दिल्ली ने तीन विकेट पर 189 रन बनाये जबकि हैदराबाद ने आठ विकेट पर 172 रन बनाये। अब फाइनल उन दो टीमों के बीच होगा जो लीग तालिका में पहले और दूसरे स्थान पर रही थी। मुंबई को पहला और दिल्ली को दूसरा स्थान मिला था। मुंबई ने पहले क्वालीफायर में दिल्ली को हराया था लेकिन अब दोनों टीमें खिताबी मुकाबले में आमने-सामने होंगी। मुंबई पांचवीं बार और दिल्ली पहली बार खिताब जीतने के इरादे से उतरेगी।

शिखर ने 50 गेंदों पर 78 रन में छह चौके और दो छक्के लगाए। स्टॉयनिस ने 27 गेंदों पर 38 रन में पांच चौके और एक छक्का लगाया जबकि हेत्माएर ने 22 गेंदों पर नाबाद 42 रन में चार चौके और एक छक्का लगाया।

पिछले मैच के हीरो केन विलियम्सन ने एक बार फिर मोर्चा संभाला और 45 गेंदों पर 67 रन में पांच चौके और चार छक्के लगाए लेकिन इस बार हैदराबाद को जीत की मंजिल पर नहीं पहुंचा सके। रबादा ने 19वें ओवर में तीन विकेट निकालकर हैदराबाद की उम्मीदों का अंत कर दिया। रबादा ने 29 रन पर चार विकेट और स्टॉयनिस ने 26 रन पर तीन विकेट लिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *