January 19, 2021

कोहली के समीकरण बिगाड़ने की फिराक में धौनी

Dhoni and Kholi

दुबई। लगातार लचर प्रदर्शन के कारण चेन्नई सुपरकिंग्स आईपीएल में प्लेआफ की दौड़ से बाहर हो चुका है लेकिन अगर महेंद्र सिंह धौनी की टीम टूर्नामेंट के आखिरी चरण में अपने पुराने रंग में लौटती है तो वह कुछ टीमों के समीकरण बिगाड़ सकती है और इनमें रायल चैलेंजर्स बेंगलोर भी शामिल है जिसके साथ वह रविवार को दुबई में मैच खेलेगी।

चेन्नई ने अब तक 11 मैच खेले हैं और वह तीन जीत से छह अंक लेकर अंकतालिका में आठवें और अंतिम स्थान पर है। आईपीएल के इतिहास में यह पहला अवसर है जबकि चेन्नई प्लेऑफ में जगह नहीं बना पाया है लेकिन पूरी उम्मीद है कि धौनी अपने खिलाड़ियों से बाकी बचे तीन मैचों में पूरे जोश और जज्बे के साथ मैदान पर उतरने को कहेंगे। ऐसे में अगर चेन्नई अपना किसी मैच में अपना पुराना रंग दिखा देती है तो विरोधी टीमों के लिये दिक्कत हो सकती है।

आरसीबी के कप्तान विराट कोहली चेन्नई की इस क्षमता से अच्छी तरह वाकिफ हैं और इसलिए वह रविवार के ‘डबल हेडर’ के पहले मैच को हल्के से लेने की गलती नहीं करेंगे। आरसीबी के अब तक 10 मैचों में सात जीत से 14 अंक हैं और इस मैच को जीतने से उसकी प्लेऑफ में जगह लगभग पक्की हो जाएगी।

इन दोनों टीमों के बीच दुबई में 10 अक्टूबर को जो मैच खेला गया था उसमें आरसीबी जीत दर्ज करने में सफल रही। उस मैच में कोहली ने 90 रन बनाये थे लेकिन न धौनी का बल्ला नहीं चला था और ना ही उनके बल्लेबाज कमाल दिखा पाये थे। इन दोनों टीमों के बीच आईपीएल में कुल 25 मैच खेले गये हैं जिनमें से चेन्नई ने 15 और आरसीबी ने नौ मैच जीते जबकि एक मैच का परिणाम नहीं निकला था। चेन्नई की टीम अपने इस रिकार्ड से भी प्रेरणा लेने की कोशिश करेगी।

रविवार को शाम का मैच राजस्थान रॉयल्स और मुंबई इंडियन्स के बीच अबुधाबी में खेला जाएगा। इन टीमों में राजस्थान आईपीएल की दौड़ से बाहर होने की कगार पर खड़ा है। राजस्थान के 11 मैचों में चार जीत से आठ अंक हैं और उसकी टीम यदि अपने बाकी बचे तीनों मैच में जीत दर्ज भी कर लेती है तब भी अगर मगर के चक्कर में फंसी रहेगी।

राजस्थान का मुकाबला अब उस मुंबई से है जो शानदार फार्म में है। मुंबई के 10 में सात जीत से 14 अंक हैं। पिछले मैच में उसने चेन्नई को 10 विकेट से हराया था। चार बार की चैंपियन मुंबई की टीम इस बार भी खिताब की प्रबल दावेदार बनी हुई है। रोहित शर्मा की अगुवाई वाली टीम आगे भी अपनी प्रतिद्वंद्वियों पर किसी तरह का रहम दिखाने के मूड में नहीं दिख रही है।

इन दोनों टीमों के बीच पिछले मैच में भी मुंबई ने 57 रन की बड़ी जीत दर्ज की थी। दोनों टीमों के बीच 21 मैचों में से 11 मैच मुंबई ने जीते हैं लेकिन राजस्थान भी 10 जीत के साथ ज्यादा पीछे नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.